Skip to Content

Languages

वर्धा में व्यक्तिमत्व विकास कार्यशाळा

भारतीय संस्कृती परीक्षा के सफल आयोजन के पश्चात  महाविद्यालयो में एक दिवसीय  व्यक्तिमत्व विकास कार्यशाळा का  आयोजन ३ स्थानों पर व एक institute में "विवेकानन्द केन्द्र परिचय कार्यशाळा" का आयोजन अभी तक किया गया है। 

१. दिनांक 14.11.0216 को स्वावलंबी शिक्षण महाविद्यालय में सुबह ८ से १२ व्यक्तिमत्व विकास कार्यशाळा का आयोजन किया गया। 

इस कार्यशाळा में वर्धा जिल्हे से भा.स.प. में 

First (अमित सुभाष मराठे, M.S.W. first sem - अनिकेत समाजकार्य महाविद्यालय, वर्धा), 

Second (कु. कविता कृष्णाजी मंगरुळकर, M.S.W. first sem - कुंभलकर समाजकार्य महाविद्यालय,वर्धा)

Third (नितीन पोहकर, class 11 th, Indian Military School, Pulgaon) 

को बक्षिस प्रदान किया गया। 

कार्यशाळा में central excise and customs department के से.नि.superintendent श्री सुधीर दन्दे मुख्य अतिथि के रूप में आमंत्रित थे। 

खेल,गीत,परिचय, action song के पश्चात ४ गण  विभाजित  कर "मै से हम" इस विषय पर मंथन व प्रस्तुतिकरण लिया गया। 

कार्यशाळा में ३७ युवाओं की  उपस्थिति रही। 

मंथन के पश्चात मुख्य अथिति श्री  सुधीर दन्दे ने उपस्थित युवाओं का मार्गदर्शन किया। 

बक्षिस वितरण केन्द्र के नगर संचालक श्री प्रमोद बोरकर, सह नगर संचालक श्री प्रकाश बोम्बटकर मुख्य अथिति श्री  सुधीर दन्दे ने किया। 

First & Second पुरस्कार प्राप्तकर्ता अमित व कु. कविता कन्याकुमारी में होने वाले युवक नेतृत्व विकसन शिविर में सहभागी होने वाले है। उनका reservation किया गया है। 

कार्यशाळा का संचालन कु. संजना ठाकरे ने किया।  कार्यशाळा के सफलतार्थ  केन्द्र कार्यकर्ता श्री अनन्त पुरन्दरे, श्री अमोल गाढ़वकर, कु. सुषमा ठाकरे, आकाश बैसवारे, प्रफुल पजई, सौरभ, भूषण सूर्यवंसी ने प्रयत्न किया। 

२. दिनांक 02.12.2016 को Rural Institute पिपरी मेघे वर्धा में दोपहर १ से सायं ४ बजे तक  व्यक्तिमत्व विकास कार्यशाळा का आयोजन किया गया। 

इस कार्यशाळा में rural institute के ३९ युवा सहभागी हुए। 

निम्न गतिविधियां इस कार्यशाळा में ली गई -

प्रार्थना, गीत (हो जाओ तैयार साथियों..........), विवेकवाणी , खेल (घूमता किला, शेर बकरी, हाथी घोड़ा पालकी), Action Song (सुन्दर दरिया), मंथन (विषय - वैभवशाली भारत का निर्माण व वर्तमान युवा), स्वामी विवेकानन्द का जीवन चरित्र बताया गया (PPT के माध्यम से)

उपस्थित कार्यकर्ता - श्री प्रकाश खेड़कर, नगर संचालक श्री प्रमोद बोरकर, सह नगर संचालक श्री अशोक सावरकर, कार्यालय प्रमुख श्री विजय काळबांडे, कु. संजना ठाकरे, विशाल दादुरवाड़े, कौस्तुभ बोबड़े, आशीष भूरे। 

Rural Institute में केन्द्र के कार्यक्रमो की प्रभारी प्राध्यापिका डॉ. ज्योती ताई तिमांडे व प्राचार्य श्री नितीन ठाकरे पूर्ण समय कार्यशाळा में उपस्थित थे। 

इस कार्यशाळा से जुड़कर  ३ युवा केन्द्र के कार्यक्रमो में नियमित रूप से सहभागी होते है। 

३. दिनांक 03.12.2016 को  "विवेकानन्द केन्द्र परिचय कार्यशाळा" का आयोजन  समर्थ कंसलटन्सी, सेवाग्राम काम्प्लेक्स, वर्धा में किया गया। 

समर्थ कंसलटन्सी में महाराष्ट्र सरकार के skill development training अभियान के अंतर्गत nursing का course करने वाले 65 युवा सहभागी हुए। 

समर्थ कंसलटन्सी के संचालक श्री वसंत देशपांडे केन्द्र के मासिक दानदाता है।  उनके यहाँ 400 युवा अलग - 2 प्रकार के training course करते है। हमने उनसे आग्रह किया था की उन युवाओ के लिए कोई गतिविधि लेने हेतु हमें समय प्रदान करे।  अतः उन्होंने हमें १ घंटे का time (दोपहर 3 से 4 बजे तक ) दिया था। 

इस कार्यशाळा में हमने उपस्थित युवाओ को मा. श्री एकनाथजी के जीवन व केन्द्र के परिचय पर आधारित 25 min video दिखाया। 

कु. सुषमा ठाकरे ताई ने वर्धा में केन्द्र द्वारा संचालित गतिविधियों व कार्यपद्धति की जानकारी प्रदान की। 

नगर संचालक श्री प्रमोद बोरकर ने  युवाओ को केन्द्र से जुड़ने का आव्हान किया। 

प्रार्थना, गीत, विवेकवाणी,शांतिपाठ  व कार्यशाळा के आयोजन हेतु आभार माना गया। 

इस कार्यशाळा के  2 युवा साधना दिवस के कार्यक्रम में सहभागी हुए। 

४. दिनांक 16 .12 .0216 को रंगलाल केजडीवाल कनिष्ठ महाविद्यालय पुलगांव में सुबह ९.३०  से १२.१५ तक  व्यक्तिमत्व विकास कार्यशाळा का आयोजन किया गया। 

वर्धा केन्द्र के नगर उत्सव प्रमुख श्री अमोल गाढ़वकर इस junior college में प्राध्यापक है। विगत 3 वर्षो से इस junior college में भा.स.प. सम्पन्न हो रही है।  इस वर्ष 33 students सहभागी हुए। 

केन्द्र के वरिष्ठ कार्यकर्ता श्री अरविन्द गोरे मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित हुए।

उन्होंने "स्वामी विवेकानन्द के चरित्र निर्माण संबंधी विचार" इस विषय पर 35 min का उद्बोधन दिया। 

गणसः मंथन व प्रस्तुतिकरण भी किया गया। मंथन का विषय be & make था। 

मंथन की प्रस्तावना नगर संचालक श्री प्रमोद जी बोरकर ने रखी। 

इस कार्यशाळा में ७९ students (परीक्षा सहभागी हुए + अन्य) उपस्थित थे। 

प्राचार्या सौ. नकासे मैडम व उप प्राचार्य श्री नूरसिंह जाधव ने परीक्षा में सहभागी हुए विद्यार्थियों को certificate प्रदान किये व दोनों ने 5-5 min संबोधित भी किया 

कार्यशाळा का सूत्र संचालन श्री अमोलजी गाढ़वकर ने किया। 

कार्यशाळा में प्रार्थना, गीत (जागों तो एक बार, जागों....), विवेकवाणी, खेल, अभिनय गीत,शांतिपाठ भी लिया गया था। 

आभार प्रदर्शन प्राध्यापिका सौ. व्यवहारे मैडम ने माना।

हमारे साथ इस कार्यशाला में युवा कार्यकर्ता आशीष भूरे भी उपस्थित था।